राष्ट्रपति चुनावों से पहले फिर दो धड़ों में सपा

राष्ट्रपति चुनावों से पहले फिर दो धड़ों में सपा
Updated 22:32 18 Sun Jun 2017
Sharing Icons from Add this

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) में पिता-पुत्र के बीच अभी भी सब कुछ सामान्य नहीं हुआ है और दोनों की राय एक दूसरे से जुदा बनी हुई है। इस बार देश के अगले राष्ट्रपति का चुनाव दोनों के बीच दूरियों की वजह बनकर सामने आया है।

एक तरफ राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर अखिलेश यादव जहां भाजपा के खिलाफ एकजुट हो रहे विपक्ष का हिस्सा हैं, वहीं दूसरी ओर उनके पिता और संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने एनडीए उम्मीदवार का समर्थन करने के संकेत दिए हैं।

इस साल जुलाई में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल खत्म होने वाला है। इस पद के लिए 17 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव होना है। फिलहाल न तो केन्द्र में सत्तारूढ़ दल ने इस सम्बन्ध में सार्वजनिक रूप से अपने प्रत्याशी का ऐलान किया है और ना ही विपक्ष की ओर से कोई नाम तय किया गया है। विपक्ष इस सम्बन्ध में नई दिल्ली में बैठक भी कर चुका है, लेकिन किसी नाम पर अन्तिम मुहर नहीं लगायी गयी।

इस बैठक में सपा की ओर से राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्य सभा सांसद प्रो. रामगोपाल यादव शामिल हुए थे। बैठक में तय हुआ था कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए नौ पार्टियों का एक पैनल बनाया जायेगा।


 

और पढ़ें

मुहूर्त राहुकाल राशिफल चौघड़िया शनिवार 24 जून 2017

आशिकी-3 में श्रद्धा नहीं किसी और हिरोइन को मिलेगा चांस

25 जून से राज्यों के दौरे पर कोविंद

गर्भपात कराने के लिए महिला ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की याचिका

ये फैसला बताता है कि सीएम योगी को भी है मुस्लिम वोटबैंक की दरकार

मुजफ्फरपुर स्मार्ट सिटी में शामिल

योगी के बाद नीतीश ने भी विपक्ष पर साधा मीरा कुमार को लेकर निशाना

राष्ट्रपति चुनाव के लिए रामनाथ कोविंद ने किया नामांकन

   viral, Andhra Pradesh, cooks, plastic, rice, Telangana, uttarakhand, viral

आपके किचन में भी तो नहीं पक रहा है प्लास्टिक चावल

भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में एक के बाद एक हुए तीन धमाके

दिल्ली में पूरी हो गई चिकनगुनिया से बचने की तैयारी

गुलाब जामुन में नजर नहीं आएंगी ऐश्वर्या राय