घर का बना खाना खाए, मधुमेड को भगाएं

घर का बना खाना खाए, मधुमेड को भगाएं
Updated 23:35 06 Thu Jul 2017
Sharing Icons from Add this

न्यूयॉर्क। कहते हैं गर का खाना कई मायनों में सेहत के लिए फायदेमंद होता है। ये न केवल फैट और अनेक तरह की बीमारियों को दूर करता है बल्कि शरीर को फिट भी रखता है। किंग साइज बर्गर और फ्रेंच फ्राइ के लिए घर का खाना छोड़ने से न सिर्फ आपके पेट के आसपास चर्बी बढ़ती है, बल्कि मधुमेह का खतरा भी बढ़ जाता है। एक शोध में यह चेतावनी दी गई है। शोधकर्ताओं का कहना है कि जो लोग अक्सर बाहर का खाना खाते हैं, खासतौर से फास्ट फूड, उनमें टाईप 2 मधुमेह विकसित होने का खतरा बढ़ जाता है।

हॉवर्ड टी. एच. चान स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के की सून का कहना है कि चिंता की बात यह है कि बाहर का खाना खाने पर ऊर्जा तो भरपूर मिलती है, लेकिन पोषण नहीं मिलता है। जिससे वजन बढ़ जाता है और इसी का नतीजा है कि टाइप 2 मधुमेह होने की संभावना भी बढ़ जाती है।

इस शोध के निष्कर्षो से पता चलता है कि जो लोग सप्ताह में पांच से सात बार घर का बना रात का खाना खाते हैं, उनमें सप्ताह में दो या उससे कम बार खाना खानेवालों के मुकाबले टाइप 2 मधुमेह का खतरा 15 फीसदी कम होता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि मधुमेह से बचने के लिए व्यवहार में बदलाव, खानपान सुधारने और व्यायाम करने की सलाह दी जाती है। लेकिन इस शोध के बाद अब इसमें घर का बना खाना खाने की सलाह भी जुड़ गया है।

 

 

और पढ़ें