IJC में पाक को लगा झटका

IJC में पाक को लगा झटका
Updated 07:28 16 Tue May 2017
Sharing Icons from Add this

द हेग। पकिस्तान की अदालत द्वारा भारत के कथित जासूस कुलभूषण जाधव को मृत्युदंड देने के खिलाफ भारत की याचिका पर सुनवाई करते हुए अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) ने सोमवार को जाधव द्वारा अपराध स्वीकार करने वाला वीडियो देखने के पाकिस्तान के अनुरोध को ठुकरा दिया। सुनवाई के दौरान जब दलील पेश करने की पाकिस्तान की बारी आई तो पाकिस्तान ने जाधव द्वारा अपराध स्वीकार करने से संबंधित वीडियो चलाने की इजाजत मांगी, लेकिन आईसीजे ने पाकिस्तान की अर्जी स्वीकार नहीं की।

इससे पहले, भारत ने आईसीजे के समक्ष मांग रखी कि पाकिस्तान जाधव का मृत्युदंड रद्द करे और कहा कि चूंकि पाकिस्तान की अदालत में जाधव के मामले की सुनवाई वियना संधि का उल्लंघन करते हुए ‘हास्यास्पद’ तरीके से हुई, इसलिए आईसीजे इस पर निगरानी रखे कि पाकिस्तान जाधव को फांसी की सजा न दे।

हेग में आईसीजे के अध्यक्ष रॉनी अब्राहम के समक्ष एक घंटे से अधिक समय तक चली जिरह के दौरान तथ्यों को सामने रखते हुए प्रख्यात वकील हरीश साल्वे ने कहा, “मैं आईसीजे से आग्रह करता हूं कि वह सुनिश्चित करे कि जाधव को फांसी न दी जाए, पाकिस्तान इस अदालत बताए कि (फांसी नहीं देने की) की कार्रवाई की जा चुकी है और ऐसी कोई कार्रवाई नहीं की गई है, जो जाधव मामले में भारत के आधिकारों पर प्रतिकूल प्रभाव डालता हो।”

उल्लेखनीय है कि आईसीजे ने भारत की एक याचिका पर पिछले सप्ताह जाधव की फांसी पर रोक लगा दी थी। पाकिस्तान के साथ किसी मुद्दे को लेकर भारत 46 वर्षो बाद अंतर्राष्ट्रीय अदालत पहुंचा है। एक साल पहले गिरफ्तार किए गए भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी को पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने पिछले महीने मौत की सजा सुनाई थी। भारत ने कहा है कि जाधव का अपहरण किया गया और उनपर बेबुनियाद आरोप लगाए गए।

भारत ने जाधव को राजनयिक पहुंच प्रदान करने के लिए पाकिस्तान से 16 बार अनुरोध किया, लेकिन हर बार इस्लामाबाद ने इनकार कर दिया। भारत को यह तक पता नहीं है कि उन्हें पाकिस्तान में किस जेल में रखा गया है।

इसके बाद जवाब देते हुए कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान ने इंटरनैशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) में बिना सबूतों के पुरानी बातें तो दोहराईं। वियेना समझौते के उल्लंघन को लेकर लग रहे आरोपों को नकारते हुए पाकिस्तान ने एक बार फिर दावा किया कि भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया था और उसने भारत के साथ सबूत साझा करने के साथ ही जांच में शामिल होने की अपील की गई थी। पड़ोसी देश ने राजनयिक पहुंच देने से 16 बार इनकार किए जाने पर कहा कि कुलभूषण जाधव इसके योग्य नहीं। दलील शुरू करने से पहले ही पाकिस्तान को उस समय बड़ा झटका लगा जब कोर्ट ने उसे कुलभूषण जाधव के कथित कबूलनामे वाला विडियो चलाने से रोक दिया, जबकि वह इसे अपना सबसे बड़ा ‘सबूत’ बताता रहा है।

पाकिस्तान के काउंसिल क्यूसी खावर कुरैशी ने कहा, ‘जाधव को बलूचिस्तान में गिरफ्तार किया गया उसने ईरान के रास्ते पाकिस्तान में प्रवेश किया था। कुलभूषण जाधव के पास राजनयिक पहुंच की योग्यता नहीं। वियेना समझौता ऐसे जाजूस पर लागू नहीं होता, जो आंतकवादी गतिविधियों में शामिल रहा हो।भारत के साथ सबूत साझा किए। जांच की डीटेल्स मुहैया कराए जाने के बाद भारत ने चुप्पी साधे रखी और कोई जवाब नहीं दिया।’

जाधव मामले पर सोमवार की सुबह शुरू हुई सुनवाई एक-एक घंटे के दो सत्रों में हुई। दोनों सत्रों में भारत और पाकिस्तान को अपना-अपना पक्ष रखने के लिए आधा-आधा घंटा समय दिया गया। भारत और पाकिस्तान ने अपना-अपना पक्ष रख दिया है और अब नजर कोर्ट के फैसले पर है।

और पढ़ें

मुहूर्त राहुकाल राशिफल चौघड़िया रविवार 24 सितंबर 2017

मुहूर्त राहुकाल राशिफल चौघड़िया शुक्रवार 22 सितंबर 2017

इस नवरात्रि बन रहा शुभ संयोग, भूल से भी न करे ये गलतियां, अशुभ होता है

मुहूर्त=राहुकाल=राशिफल===चौघड़िया==गुरुवार; 21, सितंबर ,2017

मुहूर्त राहुकाल राशिफल चौघड़िया रविवार 3 सितंबर 2017

मुहूर्त राहुकाल राशिफल चौघड़िया रविवार 13 अगस्त 2017

मुहूर्त राहुकाल राशिफल चौघड़िया शनिवार 12 अगस्त 2017

मुहूर्त राहुकाल राशिफल चौघड़िया रविवार 11 अगस्त 2017

मलेशिया से मिली पूर्व विधायक मुकेश पंडित को जान से मारने की धमकी

मुहूर्त राहुकाल राशिफल चौघड़िया बुधवार 9 अगस्त 2017

मुहूर्त राहुकाल राशिफल चौघड़िया रविवार 6 अगस्त 2017

मुहूर्त राहुकाल राशिफल चौघड़िया शनिवार 5 अगस्त 2017