इंसान नहीं बल्कि चूहे बन गए शराबी

इंसान नहीं बल्कि चूहे बन गए शराबी
Updated 14:45 05 Fri May 2017
Sharing Icons from Add this

पटना। नीतीश कुमार ने बिहार में जोरशोर से शराबबंदी का ऐलान किया था और शराबबंदी को सख्ती से लागू करवाया।  इस सख्ती के बाद सघन अभियान के दौरान जब्त करीब 9 लाख लीटर से अधिक की शराब  के गायब होने के मामले में पुलिस ने खुलासा किया है कि पुलिस मालखाने से वो शराब चूहे पी गये।

इसका खुलासा होने के बाद पटना क्षेत्र के डीआईजी राजेश कुमार ने कहा कि अब पकड़ी गयी शराब को मालखानो में न रखकर उसे तुरंत नष्ट करवा दिया जायेगा। साथ ही थानों से यह कहा गया है कि शराब चूहे पी गये तो इसकी भी जांच कराएं।

पिछले 13 महीने के दौरान 9.15 लाख लीटर देशी और अंग्रेजी शराब जब्त की गई और पुलिस क्राइम मीटिंग के दौरान यह बात सामने आई कि इसमें से एक बड़ा हिस्सा पुलिस थाने लाने के दौरान रास्ते में बर्बाद हो गया, जबकि उतनी ही बड़ी मात्रा को चूहे पुलिस मालखाना में हजम कर गए। 

इस पर विपक्ष ने नीतीश कुमार पर निशाना साधा और कहा कि 9 लाख लीटर से ज्यादा शराब नीतीश का सरकारी चूहा पी गया। इसकी जांच होनी चाहिये। जब्त शराब की कीमत तकरीबन 90 करोड़ के आसपास बतायी जा रही है।

और पढ़ें