भारतीय सेना की कार्रवाई पर बौखलाए आतंकी किया हमला

भारतीय सेना की कार्रवाई पर बौखलाए आतंकी किया हमला
Updated 12:59 17 Sat Jun 2017
Sharing Icons from Add this

श्रीनगर। कभी अपनी हरकतों से बाज ना आने वाले और आतंकी को जन्म देने के नाम से पहचाने जाने वाले पाकिस्तान की एक के बाद एक आतंकी घाटी का माहौल बिगाड़ने में लगे हुए हैं। ऐसे में लगने लग गया है कि सेना द्वारा की गई कार्रवाई के कारण आतंकी बौखला से गए हैं। जिसके चलते लश्कर कमांडर की मौत के बाद अब आतंकी बदला लेने की फिराक में हैं। उत्तरी कश्मीर के बिजबेहरा इलाके में शनिवार सुबह को आतंकियों ने सेना और सीआरपीएफ के कैंप को अपने निशाने पर ले लिया। यहां आतंकियों ने सेना और सीआरपीएफ को अपने निशाने पर लेते हुए कैंप पर ताबाड़तोड़ गोलिया चलानी शुरू कर दी। आतंकियों ने यहां पर 90वीं बटालियन सीआरपीएफ और 1 राष्ट्रीय राइफल्स के कैंप को अपने निशाने पर लिया है।

वही सेना और सीआरपीएफ पर हमला करने के बाद आतंकी सेना के डर से मौके से फरार हो गए। हालांकि इस घटना में किसी भी जवान के हताहत होने की खबर नहीं है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि लश्कर कमांडर मट्टू की हत्या करने के बाद आतंकी संगठन अब बौखला गया है और मट्टू का बदला लेने के लिए आतंकियों ने अपनी गतिविधियों को तेज कर दिया है क्योंकि शनिवार को हुए आतंकी हमले में जिन सीआरपीएफ और सेना के कैंप को निशाना बनाया गया है वह दोनों ही मट्टू को मारने में शामिल थी। वही पुलिस फिलहाल आतंकियों की तलाश में जुट गई है और पूरे इलाके को सेना द्वारा घेर लिया गया है।

आपको बता दें कि मट्टू लश्कर का कुलगाम डिस्ट्रिक कमांडर था। ऐसे में सेना ने मट्टू को आतंकियों की श्रेणी में ए खाके में रखा गया था। वही मट्टू पर 10 लाख रुपए का इनाम भी घोषित हो रखा था। शुक्रवार को हुए हमले में आतंकी पहले से ही पुलिस के लिए जाल बिछाकर बैठे हुए थे। सही वक्त मिलने पर घात लगाए आतंकियों ने अपने घटिया मनसूबे पर परचम लहरा दिया। इससे पहले भी हाल में अनंतनाग पर हुए आतंकी हमले में एक नागरिक की मौत हो गई थी। सूत्रों के हवाले से खबरें हैं कि दोपहर के बाद अचाबल इलाके में घात लगाए आतंकियों ने पुलिस के दल पर धावा बोल दिया जिसमें एसएचओ फिरोज डार समेत 6 पुलिस कर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए, अस्पताल ले जाते वक्त डॉक्टरों ने सभी पुलिसकर्मियों को मृत घोषित कर दिया। पुलिस महानिदेशक के अनुसार आतंकवादियों की अंधाधुंध गोलियों का शिकार 6 पुलिसकर्मी हो गए। पुलिस महानिदेशक के अनुसार आतंकियों की गोलिबारी में एसएचओ, चालक और चार पुलिसकर्मी शामिल हैं।

अधिकारियों का कहना है कि आतंकियों के खिलाफ चलाए जा रहे मट्टू को मारने के लिए जब ऑपरेशन चलाया गया उस वक्त आतंकियों को बचाने और सेना का ध्यान भटकाने के लिए वहां के लोगों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी है। ऐसे में सेना को पत्थरबाजों का भी सामना करना पड़ा था। पत्थरबाजों से निपटने के लिए जब सेना एक्शन में आई तो 2 नागरिकों की मौत हो गई जबकि 5 के करीब नागरिक घायल हो गए। जानकारी के अनुसार 24 वर्षीय मुट्टू साल 2015 में आतंवादी संगठन में शामिल हुआ था। और इसने साल 2016 में अनंतनाग में दो पुलिसकर्मियों को गोली मार दी थी।

 

और पढ़ें

मुहूर्त राहुकाल राशिफल चौघड़िया शनिवार 24 जून 2017

आशिकी-3 में श्रद्धा नहीं किसी और हिरोइन को मिलेगा चांस

25 जून से राज्यों के दौरे पर कोविंद

गर्भपात कराने के लिए महिला ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की याचिका

ये फैसला बताता है कि सीएम योगी को भी है मुस्लिम वोटबैंक की दरकार

मुजफ्फरपुर स्मार्ट सिटी में शामिल

योगी के बाद नीतीश ने भी विपक्ष पर साधा मीरा कुमार को लेकर निशाना

राष्ट्रपति चुनाव के लिए रामनाथ कोविंद ने किया नामांकन

   viral, Andhra Pradesh, cooks, plastic, rice, Telangana, uttarakhand, viral

आपके किचन में भी तो नहीं पक रहा है प्लास्टिक चावल

भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में एक के बाद एक हुए तीन धमाके

दिल्ली में पूरी हो गई चिकनगुनिया से बचने की तैयारी

गुलाब जामुन में नजर नहीं आएंगी ऐश्वर्या राय