ये है चांद निकलने का समय, ऐसे बनाएं व्रत को सफल

ये है चांद निकलने का समय, ऐसे बनाएं व्रत को सफल
Updated 22:09 07 Sat Oct 2017
Sharing Icons from Add this

शादीशुदा महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए करवा चौथ का व्रत रखती हैं। दरअसल, करवा चौथ कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। वहीं इस व्रत की अपनी खास विशेषता होती है, इस दिन अगर आप पूरी श्रद्धा के साथ इस व्रत को करते हैं, तो अपको इसका फल जरूर प्राप्त होता है। इस दिन महिलाएं पूरे विधि-विधान से ये व्रत करती हैं और रात में चंद्रमा की पूजा करके इस व्रत का समापन करती हैं। चलिए अब आपको बताते हैं कि इस बार कब चांद निकलेगा और इस व्रत को करते समय महिलाओं को क्या-क्या सावधानियां बरतनी चाहिए।

इस वक्त निकेलगा चांद

इस बार करवा चौथ का व्रत 8 अक्टूबर रविवार के दिन है। इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए ये व्रत रखती हैं। 8 अक्टूबर को शाम 4:58 बजे पर तृतीया समाप्त हो रही है, वहीं इसी शाम 4:59 बजे पर चतुर्थी तिथि का शुभारंभ होगा। ऐसे में इस बार चंद्रमा निकलने का वक्त लगभग 8:13 बजे पर निकलेगा।

ये है व्रत को सफल बनाने की विधि

  • इसके लिए सबसे पहले महिलाओं को सूरज के निकलने से पहले नहाकर इस व्रत का संकल्प लेना चाहिए और सास द्वारा दी गई सरगी खानी चाहिए।
  • इसके बाद दिनभर निर्जला व्रत रखना चाहिए और इस बीच में भगवान शिव, माता पार्वती और गणपति बप्पा का भी ध्यान करते रहना चाहिए।
  • वहीं इसके बाद दीवार पर गेरु से फलक बनाकर पीसे हुए चावलों के घोल से ‘करवा’ बनाए। ऐसा इसलिए करना चाहिए क्योंकि यह एक पौरणिक परंपरा है।
  • फिर शाम के वक्त मां गौरी और गणेश की पूजा करनी चाहिए। इस दौरान करवाचौथ की कहानी भी सुननी चाहिए। साथ ही इस दौरान अगर आप बाकी महिलाओं के साथ इकट्ठे होकर करवा चौथ की पूजा करें तो ये काफी शुभ माना जाता है।
  • आखिर में महिलाओं को छन्नी से चंद्रमा को देखना चाहिए और चांद को अर्ध्य भी देना चाहिए। साथ ही इस दौरान जल पति के हाथों से ही पिएं। ऐसा करना काफी शुभ माना जाता है।
     

और पढ़ें