घर में शांति रखनी है तो करें यह काम

घर में शांति रखनी है तो करें यह काम
Updated 10:18 17 Wed May 2017
Sharing Icons from Add this

प्रत्येक व्यक्ति की यही इच्छा होती हैं कि उसके घर का माहौल हमेशा शांत और सुखमय रहें तथा उसके घर – परिवार के सदस्यों पर किसी प्रकार की विपत्ति न आये. वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में यदि अशांत माहौल हैं और आपको निरंतर किसी न किसी समस्या का सामना करना पड रहा हैं. तो इसका कारण वास्तु दोष हो सकता हैं. जिसके प्रभाव के कारण ही आपको तथा आपके परिवार के सदस्यों को परेशानियाँ हो रही हैं. यदि आप कोण भी वास्तु दोष के कारण किसी प्रकास की समस्या का सामना करना पड रहा हैं. तो आप निम्नलिखित बातों का ध्यान रखकर इन दोषों से मुक्ति पा सकते हैं.

1- पारिवारिक झगडे - वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि आपके घर में निरंतर झगड़े होते रहते हैं. तो आपको अपने घर के शयनकक्ष की उत्तर दिशा की दीवार पर दो हंसों के जोड़ों की तस्वीर लगानी चाहिए या दो सारस के जोड़ों का फोटो लगाना चाहिए. शयनकक्ष की उत्तरी दीवार पर इनकी तस्वीरें लगाने से आपके घर में कलह – कलेश नहीं होगा तथा आपका दाम्पत्य जीवन भी सुखपूर्वक व्यतीत होगा.

2- तिजोरी - यदि आपके घर में तिजोरी हैं. तो उसे किसी धातु पर न रखकर समतल भूमि पर रखें. यदि तिजोरी के हिलने की समस्या हैं तो इसके लिए तिजोरी के नीचे किसी पत्थर को न लगायें. बल्कि इसके स्थान पर किसी छोटे से लकड़ी के टुकड़े का प्रयोग करें. इन दोनों ही उपायों से आपके घर में कभी पैसे की हानि नहीं होगी.

3- घर की सुख – समृद्धि - घर में हमेशा सुख – समृद्धि बनाये रखने के लिए रोजाना अपने घर के पूजा स्थल पर घी का दीपक जलाएं. लेकिन घी का दीपक जलाते हुए इस बात का अवश्य ध्यान रखें कि दीपक में बाती बिल्कुल बीच में हो तथा दीपक को जलाने के बाद इसका दीपक का मुख व लौ पूर्व दिशा या दक्षिण दिशा की ओर हो. प्रतिदिन घी का दीपक जलाने से आपके घर में हमेशा सुख पूर्ण वातावरण बना रहेगा तथा आपको तथा आपके परिवार के सभी सदस्यों को ईश्वर के द्वारा शुभ फल की प्राप्ति होगी.

4--- पूजा – घर में पूजा – पाठ करने के लिए मंदिर हमेशा ईशान कोण में स्थापित करें तथा रोजाना सुबह उठकर श्री सूक्त, पुरुष सूक्त का पाठ करें. शाम को हनुमान चालीसा का पाठ करें. इस प्रकार प्रतिदिन घर के पूजा – स्थल पर पूजा – पाठ करने से आपके घर में किसी भी प्रकार की कोई समस्या उत्पन्न नहीं होगी तथा आपके घर में हमेशा शांतिपूर्ण माहौल बना

5--- टी.वी, एंटीना तथा दिश की सही दिशा – अगर आपको अपने घर में टी.वी का एंटीना या डिश लगवाना हैं. तो इन्हें कभी भी घर की पूर्व व ईशान कोण में न लगायें. इन्हें हमेशा नैऋत्य कोण में ही लगायें. नैऋत्य कोण में एंटीना या डिश लगवाने से यदि आपके घर का कोई भाग ईशान कोण से ऊंचा हैं तो उस दोष का निवारण भी इससे हो जाएगा.

6--- जल का सेवन – वास्तु शास्त्र के अनुसार जब भी जल का सेवन करें. अपना मुख सदैव उत्तर – पूर्व दिशा की ओर रखें.

7--- भोजन का सेवन – जब भी आप भोजन का सेवन करें. तो हमेशा अपनी भोजन की थाली हमेशा दक्षिण पूर्व दिशा की ओर रखें और स्वयं भी पूर्व दिशा की ओर ही मुख करके भोजन का सेवन करें.

8---- वैचारिक मतभेद – यदि आपके परिवार के सदस्यों के विचार एक दुसरे से बिल्कुल भिन्न हैं. जिसके कारण आपके घर के सदस्यों के बीच वैचारिक मतभेद बढ़ रहा हैं. तो इस मतभेद को कम करने के लिए अपने घर के दक्षिण और पश्चिम दिशा के कोने में सफ़ेद या क्रीम रंग का फूल दान रखें और उसमें पीले रंग के फूल लगायें. इस उपाय को करने से आपका घर फूलों की खुशबु से महक उठेगा और आपके घर के सदस्यों के बीच के वैचारिक मतभेद समाप्त हो जायेंगे.

9-----घर से रोग, भूत – प्रेत बाधा को दूर करने हेतु उपाय –

यदि आपके घर पर किसी बुरी शक्तियों का या भूत – प्रेत का प्रभाव हैं. जिसके कारण आपके घर का कोई न कोई सदस्य हमेशा बिमार रहता हैं. तो भूत – प्रेत की इस बाधा को अपने घर से दूर करने के लिए आपअमावस्या के दिन इस एक उपाय कर सकते हैं. जिसके बारे में जानकारी नीचे दी गई हैं !

1----भूत – प्रेत की बाधा को दूर करने के लिए अमावस्या की सुबह स्नान करने के बाद मेहंदी के साथ पानी का प्रयोग कर चार मुख वाला दीपक बना लें !

2---अब इस दीपक में चार तेल की बाती डालें, 7 उड़द की डाल डालें, थोडा सिंदूर डालें, थोड़ी दही डालें. एक निम्बू लाकर उसे दो हिस्सों में कटकर उन्हें भी इस दीपक में डाल दें !

3---- इसके बाद भैरव देवता की तस्वीर तथा शिवजी की तस्वीर अपने सामने रखें और उनकी पूजा करें !

4---भैरव और शिवजी की पूजा करने के बाद इस दीपक को जला लें !

5---- अब महामृत्युंजय मन्त्र की एक माला का जाप करें या बटुक भैरव के स्त्रोत का पाठ करें !

6====इसके बाद हाथ जोड़कर शिवजी से तथा भैरव जी से अपने घर के सदस्यों को स्वस्थ और निरोग रखने के लिए प्रार्थना करें !

7====भगवान से प्रार्थना करने के पश्चात् दीपक को किसी सूखे कुएं में निम्बू के साथ डाल दें. दीपक को कुएं में डालने के बाद पीछे मुड़कर न देखें और घर वापिस आ जाएँ !

8-----घर पहुँचने के बाद एक ब्राह्मण को भोजन कराएँ. उन्हें दक्षिणा दें तथा वस्त्र का दान करें !

9----- इस उपाय को करने के कुछ दिनों तक गरीब तथा रोगी व्यक्तियों की सेवा करें, दान – पुण्य करें !

इस उपाय को करने के बाद आपके घर से भूत – प्रेत की बाधा हमेशा – हमेशा के लिए दूर हो जायेगी और आपको रोग तथा मानसिक अशांति का भी सामना नहीं करना पड़ेगा !

=====================

आचार्य आशु जी

9810586538--9899606198

और पढ़ें