ये क्या कर बैठे मलिंगा

ये क्या कर बैठे मलिंगा
Updated 22:54 28 Wed Jun 2017
Sharing Icons from Add this

कोलंबो। श्रीलंकाई तेज़ गेंदबाज लसिथ मलिंगा को मीडिया में बडबोलापन भारी पड़ गया है। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने मलिंगा पर 6 महीने का बैन लगा दिया है। मलिंगा पर यह बैन अनुबंध संबंधी उल्लंघन मामले में लगा है। उनकी सज़ा केवल बैन के साथ ही खत्म नही हुई है। उनपर अगले वनडे मैच की फीस का 50 % जुर्माना भी लगाया गया है। लेकिन इस फैसले का चल रही जिम्बाब्वे सीरीज पर नहीं पड़ेगा।

क्या है पूरा वाकया

राष्ट्रीय क्रिकेट टीम की चैंपियंस ट्रॉफी में हार पर श्रीलंकाई खेलमंत्री ने टीम की कड़ी आलोचना की थी। यह बात मशहूर तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा को नहीं जमी।  इसके बाद मलिंगा ने खेलमंत्री पर बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी। खेलमंत्री दयासिरी जायसेकरा ने टीम के लचर प्रदर्शन पर नाराजगी जताई थी। जिसके बाद  मलिंगा ने उनपर आपतिजनक टिपण्णी करते हुए कहा था कि “एक बंदर को तोत्ते के घोसले के बारे में क्या पता होगा”। हालांकि इसके बाद मलिंगा ने बोर्ड से माफ़ी भी मान थी। लेकिन बोर्ड ने उनपर 6 महीने का प्रतिबन्ध लगा दिया।

उनकी इस टिप्पणी को जायसेकरा ने अपना अपमान समझ लिया। और उनके टिपण्णी का जवाब देते हुए कहा “मैंने टीम के खिलाड़ियों की फिटनेस को लेकर की गई आलोचना की है। जिसमे मैंने मलिंगा का नाम नहीं लिया था। लेकिन उन्होंने सार्वजनिक रूप से मेरा अपमान किया है। हालांकि यह प्रतिबंध छह माह तक निलंबित रहेगा। लेकिन जुर्माना उन्हें अगले ही वनडे से देना होगा। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने अपने बयान में इस बात की जानकारी दी। जारी  बयान  में कहा गया है कि जाँच कमिटी ने मलिंगा को  बोर्ड के नियमों का दोषी पाते हुए यह कर्यवाही की जा रही है ।

और पढ़ें