जाकिर नाइक मामले में अगले सप्ताह होगी सुनवाई

जाकिर नाइक मामले में अगले सप्ताह होगी सुनवाई
Updated 19:17 04 Tue Jul 2017
Sharing Icons from Add this

मुंबई। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने विवादित इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाईक की मलेशिया स्थित संपत्ति को जब्त करने के लिए अनुमति मांगी थी, लेकिन विशेष अदालत ने इस याचिका पर सुनवाई अगले सप्ताह तक स्थगित कर दी।

दरअसल प्रवर्तन निदेशालय के विशेष वकील हितेन वेनगांवकर ने पत्रकारों को बताया कि निदेशालय ने जाकिर नाईक की कुछ संपत्ति मलेशिया में चिन्हित की है। जिसे जब्त करने की अनुमति मांगी थी। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय ने देश की अदालत में एक औपचारिक पत्र दिया था। ताकि दूसरे देश की अदालत में उसे न्यायिक मदद मिल सके।

प्रवर्तन निदेशालय ने विशेष धन शोधन रोकथाम अधिनियम को अदालत में पिछले सप्ताह पेश किया था। इसके तहत जाकिर नाईक अपने उकसाऊ भाषणों के द्वारा नफरत फैलाने, आतंकवादियों को धन उपलब्ध कराने और कई करोड़ अवैध रुपये को वैध बनाने के आरोपी हैं। जबकि पिछले अप्रैल महीने में अदालत ने जाकिर नाईक के खिलाफ अवैध धन को वैध बनाने के मामले में गैर जमानती वारंट जारी किया था।

वहीं राष्ट्रीय जांच एजेंसी द्वारा गैर कानूनी कार्यविधि रोकथाम कानून के तहत इस शिकायत पर स्वत: संज्ञान लेते हुए प्रवर्तन निदेशालय ने जाकिर नाईक और अन्य लोगों के खिलाफ आपराधिक मामला पिछले साल दिसंबर में दर्ज किया था।

 कौन है जाकिर नाइक

जाकिर ने मुंबई के केसी कॉलेज से पढ़ाई की है और उसके बाद एमबीबीएस की डिग्री हासिल की। इसके बाद उन्होंने 1991 में इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन की स्थापना की थी। जाकिर का उपदेश पीस टीवी के जरिए लोगों तक पहुंचता है। उसका दावा है कि उसके पास 20 करोड़ से अधिक दर्शक है और इन दर्शकों तक वह केबल टीवी के माध्यम से अपनी पहुंच बनाते हैं।

और पढ़ें